Latest opinions about Culture | Opined

Ajay Kumar Sharma
Sep 21, 2020

#चाणक्य_नीति
जबतक शरीर स्वस्थ हैं #रोगरहित है तब तक मृत्यु दूर समझिए, तबतक पुण्यकार्य, आत्मकल्याण, धर्माचरण कर लेने चाहिए, मृत्यु के आने पर कैसे करेगा, अर्थात नही कर सकेगा!
#श्लोक
यावत्स्वस्थो ह्ययं देहो यवन्मृत्युश्च दूरत: ¡
तावदात्महितं कुर्यात् प्राणांते किं करिष्यति!!
#culture

Ajay Kumar Sharma
Sep 21, 2020

#मनुस्मृति
वेदो के निरन्तर स्वाध्याय, पवित्र आचरण, तप-अनुष्ठान तथा दूसरे जीवो के साथ शत्रुता न करने से मनुष्य को अपने पूर्व जन्म की सही जानकारी हो जाती है!
इससे मोक्ष मिलताहै!
#श्लोक
वेदाभ्यासेन सततं शौचेन तपसैव च!
अद्रोहेण च भूतानां जाति स्मरति पौर्विकीम्!!
#culture

Ajay Kumar Sharma
Sep 20, 2020

#मनुस्मृति
सनातन धर्म की परिभाषा...
परम्परागत सनातन धर्म यहीहैकि....
मनुष्य को सदैव प्रिय सत्य बोलना चाहिए, उसे ना तो अप्रिय सत्य और न ही प्रिय असत्य बोलना चाहिए!
#श्लोक
सत्यं ब्रूयात्प्रियं ब्रूयान्न ब्तूयात्सत्यमप्रियम्!
प्रियं च नानृतं ब्रूयादेष धर्म: सनातन: !!
#Culture

Ajay Kumar Sharma
Sep 17, 2020

#मनुस्मृति
श्राध्द करके अंत मे प्रार्थना करे...
हे पितृगण! हमारे कुल मे दाता, वेदज्ञ, संताने, धनधान्य की वृध्दि हो! परिवार मे श्रध्दा का भाव सदा बनारहे!
दातारो नोअभिवर्धतां वेदा: संततिरेव च!
श्रध्दा च नो मा व्यगमद्बहुदेयं च नोअस्त्विति!!
#culture

Ajay Kumar Sharma
Sep 16, 2020

#मनुस्मृति
श्राध्दकर्म मे ये #सात महत्वपूर्णहै..
दोपहरकासमय,कुश,तिल,पवित्र_स्वच्छस्थल, उदारतापूर्वक अन्नदान देना,अन्नकासंस्कार और ब्रह्म को जानने वाला विद्वान भोजनकर्ता !
#श्लोक
अपराह्णस्तथा दर्भ: वास्तुसम्पादनं तिला:!
सृष्टिर्मृष्टिर्द्विजाश्चाग्रया: श्राध्दकर्मसु सम्पद:!!
#culture

Ajay Kumar Sharma
Sep 15, 2020

#मनुस्मृति
जिसप्रकार श्राध्दपक्ष के लिए शुक्ल पक्ष की अपेक्षा कृष्ण पक्ष का अधिक महत्व है,उसी प्रकार पुर्वांह्न की अपेक्षा अपराह्न अधिक उपयुक्त समय होता है!
दॊपहरमे श्राध्दकर्मकरे!
#श्लोक
यथा चैवापरे: पक्ष: पूर्वपक्षाद्विशिष्यते!
तथा श्राध्दस्य पूर्वाह्णादपराह्णो विशिष्यते!!
#culture

Ajay Kumar Sharma
Sep 10, 2020

#मनुस्मृति
मनुमहाराज कहतेहै.. जीवित दादा कोही श्राध्द का भोजन करा देना चाहिए, यदि दादा मना करे तो जैसा वे आदेश देवे पौत्र को उसका यथावत पालन करना चाहिए!
#श्लोक
पितामहो वा तच्छ्राध्दं भुञ्जीतेत्यब्रवीन्मनु:!
कामं वा समनुज्ञात: स्वयमेव समाचरेत्!!
#culture

Ajay Kumar Sharma
Sep 2, 2020

#Culture #मनुस्मृति
जो महानुभाव श्राद्ध के भोजन के लिए निमंत्रण स्वीकार करने के बाद अगर श्राध्द के भोजन के लिए नही जावेगा तो..
अगले जन्म मे #शूकर की योनी प्राप्त होगी!
#श्लोक
केतितस्तु यथान्यायं हव्यकव्ये द्विजोत्तमा!
कथञ्चिदप्यतिक्रामन्पाप: सूकरतांव्रजेत्!!

Ajay Kumar Sharma
Sep 2, 2020

#Culture
#मनुस्मृति
श्राध्द कर्म करने की इच्छा वाले व्यक्ति को चाहिए कि.. एकदिन पूर्व या उसीदिन...
#शास्त्रोक्त_गुणसम्पन्न, तीन, दो अथवा एक महानुभावॊ को आदर से निमंत्रित करे!
#श्लोक
पूर्वेद्युरपरेद्युर्वा श्राध्दकर्मण्युपस्थिते!
निमन्त्रयीत त्र्यवरान्सम्यग्विप्रान्यथोदितान्!!

Ajay Kumar Sharma
Sep 2, 2020

#Culture
#मनुस्मृति
ऋषियो से पितरो की,
पितरो से देवताओ की,
देवताओ से मनुष्यो की,
उत्पत्ति हुई है!
#श्लोक
ऋषिभ्य: पितरो जाता: पितृभ्योदेवमानवा: !
देवेभ्यस्तु जगत्सर्वम् चरस्थाण्वनुपूर्वश: !!